Webinar क्या होता है और Seminar और Webinar में क्या अंतर हैं?

Webinar क्या होता है: आजकल, webinars की इंटरनेट पर popularity में एक बड़ी उछाल देखने को मिल रही है। तरह-तरह के webinars organize किए जा रहे हैं, जो अलग-अलग themes और audiences को कवर करते हैं। इनके बढ़ते प्रचार के बावजूद, कई लोग अभी भी सोचते हैं, कि आखिर Webinar क्या होता है या ‘webinar’ शब्द का मतलब क्या होता है।

Webinar क्या होता है

अक्सर, हम social media पर webinars के posts देखते हैं, जहाँ companies या individuals किसी specific topic पर होस्ट की जा रही एक online event के बारे में information share करते हैं। आज के दौर में, कई businesses भी business development और marketing के लिए webinars का use करते हैं, और इन्हें काफी लाभदायक भी मानते हैं।

कई लोगों के लिए, ‘webinar’ एक अपेक्षाकृत नया शब्द है, और शायद वे इसके मतलब या आशय से पूरी तरह aware नहीं होंगे। तो चलिए जानते हैं कि webinar क्या होता है, इसकी Hindi में definition क्या होती हैं, और webinar software के advantages के बारे में भी जानने की कोशिश करे हैं।

Webinar क्या होता हैWhat is Webinar

Webinar शब्द ‘web’ और ‘seminar’ को combine करके बना है। Webinar सेमिनार का ही एक ऑनलाइन प्रारूप है, Basically, यह एक online meeting, presentation, या seminar को refer करता है, जो ऑनलाइन conduct की जाती है। Webinar एक ऐसी event होती है, जो online broadcast की जाती है और इसे smartphones, computers, या अन्य devices के जरिए access किया जा सकता है।

वेबिनार educational, business, या विभिन्न अन्य purposes के लिए organize की जा सकती हैं। ये एक medium के रूप में काम करता हैं, जो host को उनके physical location के बावजूद internet की global audience से connect करता है।

Webinar का एक primary benefit यह है कि इसे किसी physical venue की जरूरत नहीं होती, जिससे participants कहीं से भी join कर सकते हैं, उनके पास केबल स्मार्टफोन, या कंप्यूटर/लैपटॉप और इंटरनेट से कनेक्टिविटी होना आवशयक होता है।

वेबिनार के प्रकार | Types of Webinars

Webinars generally दो categories के होते हैं:

वेबिनार के प्रकार
  1. Live Webinars: इस format में, host audience के सामने live present करता है। ये sessions real-time interaction की अनुमति देते हैं, जैसे कि audience के सवालों के जवाब देना। Live webinars का उपयोग अधिकतर online classes, business meetings, और training sessions आदि के लिए मुख्या रूप से किया जाता हैं।
  2. Pre-recorded Webinars: जो लोग live नहीं जाना चाहते, उनके लिए webinars को pre-record किया जा सकता है। ये videos की quality के लिए edit करके webinar में present किए जा सकते हैं।

Webinar Platforms और Software

Webinar platforms या software इन events को host करने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं, जो online seminars conduct करने की process को आसान करते हैं। सही webinar software के साथ, आप विभिन्न प्रकार के के online seminars organize कर सकते हैं, जैसे कि presentations, classes, meetings, training, और promotional events।

आजकल, कई webinar software, apps, और online platforms available हैं, जिनमें से कुछ free होते हैं जबकि अन्य के लिए आपको पैसे देने होते हैं।

Webinar Software के Features

Offline events के interactive component की तरह, webinar software भी features जैसे कि question-answering और messaging प्रदान करते हैं। अन्य features में शामिल हैं voice chat for real-time conversation, screen sharing for presentations, और recording functionality ताकि webinar को बाद में उपयोग करने के लिए save किया जा सके। कई platforms poll creation के options भी provide करते हैं, जो audience engagement और surveys को enable करते हैं।

Seminar और Webinar में क्या अंतर हैं

Seminar और webinar के बीच का मुख्या अंतर उनके delivery mode में होता है। Seminars आमतौर पर offline events होते हैं, जो किसी specific location पर आयोजित किये जाते हैं। दूसरी ओर, webinars online events होते हैं जो location की सीमा से बाहर होते हैं, Internet के माध्यम से कंही से भी webinars कर सकते है।

Seminar और Webinar में क्या अंतर हैं

Webinar को Host कैसे करते है

Webinar को host करने के लिए आपको एक stable internet connection, एक computer या smartphone, appropriate webinar software, और अपनी needs के अनुसार optional presentation software की जरूरत होती है।

तैयारी महत्वपूर्ण है, जिसमें लाइव वेबिनार के लिए एक अच्छी स्क्रिप्ट या अच्छे फॉर्मेट में होना आवशयक है।। Hosts आसानी से content preparation के लिए pre-record videos का option चुन सकते हैं, हालांकि इससे live interaction सीमित हो सकता है।

इसके अलावा, एक अच्छी quality का camera और microphone और live जाने के लिए एक शांत, अच्छी रोशनी वाला स्थान का चयन करना महत्वपूर्ण होता है।

2024 के लिए 24 Best Webinar Platforms List

1. Livestorm13. BigMarker
2. WebinarJam14. GetResponse
3. EverWebinar15. Adobe Connect
4. Demio16. Livestream
5. EasyWebinar17. Intermedia AnyMeeting
6. WebinarNinja18. Webex
7. WebinarGeek19. Dacast
8. GoToWebinar20. Zoom
9. LiveWebinar21. Zoho Meeting
10. BlueJeans22. Google Meet
11. My Own Conference23. YouTube
12. ClickMeeting24. eWebinar

Webinar Logistics

  • Participants के लिए Preparation: सिर्फ host को ही नहीं, participants को भी webinar join करने के लिए certain setups की जरूरत होती है। उन्हें devices की जरूरत होती है जैसे कि smartphones या computers जिनमें internet access हो और जरूरी webinar software installed हो। आजकल कई video conferencing apps और software freely available हैं, जो कई range के features offer करते हैं।
  • Webinar Topic का चुनाव: Webinar के topic के लिए host को अच्छी तरह से prepared होना चाहिए। इसमें subject की comprehensive understanding और खासकर live webinars के लिए एक strong script या outline की preparation शामिल होती है।
  • Pre-recorded Content: Hosts advance में pre-recorded videos के जरिए content तैयार कर सकते हैं। यह approach content creation को आसान कर सकता है लेकिन audience के साथ real-time interaction के opportunities को कम कर सकता है।
  • Technical Requirements: Webinar की quality को significantly influence करने वाली चीजों में technical setup शामिल है। इसमें good-quality का camera और microphone होना चाहिए। इसके अलावा, जहां पर host live जाता है, वहां पर पर्याप्त रोशनी होनी चाहिए और noise और interruptions से free होना चाहिए।
  • Audience को Engage करना: Webinars का एक crucial aspect audience engagement होता है। Hosts को Q&A sessions, polls, और live discussions जैसे interactive elements की planning करनी चाहिए ताकि audience को engaged रखा जा सके। Webinar software अक्सर इन interactions को facilitate करने के लिए features प्रदान करते हैं।
  • Archiving और Replay: कई webinars को record किया जाता है और archive किया जाता है, जिससे बाद में इन्हें access किया जा सकता है। यह live session के बाहर webinar की reach को extend करता है, जिससे जो लोग live event में miss कर गए हों, वे इसे अपनी सुविधा के अनुसार देख सकते हैं।
  • Webinar का Promotion: Effective promotion webinar की success को ensure करने के लिए key है। इसमें social media marketing, email campaigns, और अन्य digital platforms का use कर potential participants तक पहुंचने के लिए शामिल हो सकता है।
  • Post-Webinar Follow Up: Webinar के बाद, participants के साथ follow up करना important होता है। इसमें उन्हें additional resources, webinar में unanswered questions के answers, या upcoming webinars के बारे में information भेजना शामिल हो सकता है।

निष्कर्ष

आज के digital age में webinars और उनके functionality को समझना महत्वपूर्ण है, जैसे Webinar क्या होता है, वेबिनार कितने प्रकार के होते है, Seminar और Webinar के बीच डिफरेंसेस क्या है और Webinar को Host कैसे करते है। उम्मीद है यह सब जानकारी आपको इस ब्लॉग पोस्ट से मिल गयी होगी, अभी भी आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here